ऑपरेशन संजीवनी : मालदीव को 6.2 मिलियन टन आवश्यक दवाएं प्रदान की गयी

भारतीय वायु सेना ने हाल ही में ऑपरेशन संजीवनी के तहत मालदीव को 6.2 मिलियन टन आवश्यक दवाएं मुहैया करवाई।

मुख्य बिंदु

भारतीय वायु सेना ने हरक्यूलिस C-130J विमान के द्वारा का परिवहन किया। इन दवाओं में लोपिनवीर, रीटनवीर और इन्फ्लूएंजा के टीके शामिल हैं। इन दवाओं के अलावा भारतीय वायुसेना ने नेबुलाइज़र, कैथेटर, यूरिन बैग और फीडिंग ट्यूब भी डिलीवर किये।

अन्य चिकित्सा सहायता

मार्च 2020 में भारत ने एक 14-सदस्यीय मेडिकल टीम को मालदीव में एक वायरल परीक्षण प्रयोगशाला स्थापित करने के लिए भेजा था। साथ ही मालदीव को 5.5 टन आवश्यक दवाएं भी उपहार में दीं गयी थी।

मालदीव के लिए अन्य ऑपरेशन

मालदीव सरकार का तख्तापलट की कोशिश को बेअसर करने में मदद के लिए 1988 में ऑपरेशन कैक्टस लांच किया गया था। ‘ऑपरेशन नीर’ का संचालन मालदीव को पेयजल संकट से निपटने के लिए किया गया था।

भारत-मालदीव

‘एकुवेरिन’ भारत और मालदीव के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास है। मालदीव की सैन्य प्रशिक्षण आवश्यकताओं का 70% भारत द्वारा प्रदान किया जाता है। यूएई, चीन और सिंगापुर के बाद भारत मालदीव का चौथा सबसे बड़ा व्यापार भागीदार है।


आर्टिकल पसंद आया तो शेयर करें
एंड कमेंट करें