संविधान सभा और संविधान का निर्माण

संविधान सभा के गठन हेतु ब्रिटिश सरकार की ओर से 24 मार्च 1946 को कैबिनेट मिशन दिल्ली आया । कैबिनेट मिशन में 3 सदस्य थे पैट्रिक लॉरेंस  सर स्टेफोर्ड क्रिप्स   ए… Read More

भारतीय संविधान की प्रस्तावना

भारतीय संविधान की प्रस्तावना जवाहरलाल नेहरू द्वारा 13 दिसंबर 1946 को संविधान निर्मात्री सभा में प्रस्तुत की जिसे संविधान सभा ने 22 जनवरी 1947 को मंजूरी दी । भारत की संविधान… Read More

राजस्थान में ऊर्जा संसाधन

एकीकरण के समय राजस्थान में स्थापित कुल विद्युत क्षमता 13.27 मेगा वाट थी। जो बढ़कर 2016 में 17894 मेगा वाट तक पहुँच गयी है। 1 जुलाई १९५७ को राजस्थान राज्य विद्युत… Read More

वन्य जीव एवं अभ्यारण्य

23 अप्रैल 1951 को राजस्थान वन्य-पक्षी संरक्षण अधिनियम 1951 लागु किया गया। भारत सरकार द्वारा 9 सितम्बर 1972 को वन्य जीव सुरक्षा अधिनियम 1972 लागु किया गया। इसे राजस्थान में… Read More

राजस्थान में वन सम्पदा

राजस्थान का अधिकांश क्षेत्र मरुस्थल है अतः यहाँ वनों का क्षेत्रफल भारत के अन्य राज्यों से काम है।  पर अरावली एवं दाक्षिण पूर्वी राजस्थान में बहुतायत में वन पाए जाते है। … Read More

राजस्थान में परिवहन – वायु

भारत में वर्ष 1911 में भारत में वायु परिवहन की शुरूआत हुई। इलाहबाद से नैनी के बीच विश्व की सर्वप्रथम विमान डाक सेवा का परिवहन किया गया। इसके पश्यात वर्ष… Read More

राजस्थान में परिवहन – रेल

भारत के संविधान में रेलवे को संघ सूची का विषय बनाया गया है। रेलवे विकास का दायित्व केंद्र सरकार के अन्तर्गत रेल मंत्रालय का है। भारत में रेल का इतिहास … Read More

राजस्थान में परिवहन – सड़क

राजस्थान परिवहन की दृष्टि से देश का एक समृद्ध राज्य है। राजस्थान में परिवाहन के तीन प्रकार है। सड़क, रेल, वायु परिवहन। चूँकि राजस्थान का कोई भी भाग समुद्र से… Read More

राजस्थान में खनिज सम्पदा

राजस्थान खनिज की दृष्टि से एक सम्पन्न राज्य है। राजस्थान को “खनिजों का अजायबघर“कहा जाता है। राजस्थान में लगभग 67(44 प्रधान + 23 लघु) खनिजों का खनन होता है। देश के कुल खनिज उत्पादन में राजस्थान… Read More

राजस्थान में स्थापत्य कला – हवेलियां

पुराने समय में राजस्थान में राजा, बड़े सेठ साहूकार तथा धनी व्यक्ति अपने आवास या निवास के हवेलियों का निर्माण करवाते थे। ये हवेलियाँ बहुत ही भव्य एवं आरामदायक होती थी।  इन हवेलियों… Read More