मुहावरे भाग -2

आँख भर आना -> आँसू आना
बेटी की विदाई पर माँ की आखें भर आयी।

आँखों में बसना -> हृदय में समाना
वह इतना सुंदर है की उसका रूप मेरी आखों में बस गया है।

आँखे खुलना -> सचेत होना
ठोकर खाने के बाद ही बहुत से लोगों की आँखे खुलती है।

आँख का तारा ->बहुत प्यारा
आज्ञाकारी बच्चा माँ-बाप की आँखों का तारा होता है

आँखे दिखाना -> बहुत क्रोध करना
राम से मैंने सच बातें कह दी, तो वह मुझे आँख दिखाने लगा।

आसमान से बातें करना -> बहुत ऊँचा होना
आजकल ऐसी ऐसी इमारते बनने लगी है, जो आसमान से बातें करती है।

आँच न आने देना -> जरा भी कष्ट या दोष न आने देना
तुम निश्र्चिन्त रहो। तुमपर आँच न आने दूँगा।

आठ-आठ आँसू रोना -> बुरी तरह पछताना
इस उमर में न पढ़ा, तो आठ-आठ आँसू न रोओ तो कहना।

आसन डोलना -> लुब्ध या विचलित होना
धन के आगे ईमान का भी आसन डोल जाया करता है।

आस्तीन का साँप -> कपटी मित्र
उससे सावधान रहो। आस्तीन का साँप है वह।

आसमान टूट पड़ना -> गजब का संकट पड़ना
पाँच लोगों को खिलाने-पिलाने में ऐसा क्या आसमान टूट पड़ा कि तुम सारा घर सिर पर उठाये हो ?

आकाश छूना -> बहुत तरक्की करना
राखी एक दिन अवश्य आकाश चूमेगी

आकाश-पाताल एक करना -> अत्यधिक उद्योग/परिश्रम करना
सूरज ने इंजीनियर पास करने के लिए आकाश-पाताल एक कर दिया।

आकाश-पाताल का अंतर होना -> बहुत अधिक अंतर होना
कहाँ मैं और कहाँ वह मूर्ख, हम दोनों में आकाश-पाताल का अंतर है।

आँच आना -> हानि या कष्ट पहुँचना
जब माँ साथ हैं तो बच्चे को भला कैसे आँच आएगी।

आँचल पसारना -> प्रार्थना करना या किसी से कुछ माँगना
मैं ईश्वर से आँचल पसारकर यही माँगता हूँ कि तुम कक्षा में उत्तीर्ण हो जाओ।

आँतें बुलबुलाना -> बहुत भूख लगना
मैंने सुबह से कुछ नहीं खाया, मेरी आँतें कुलबुला रही हैं।

आँतों में बल पड़ना -> पेट में दर्द होना
रात की पूड़ियाँ खाकर मेरी आँतों में बल पड़ गए।

आँधी के आम होना -> बहुत सस्ता होना
आजकल तो आलू आँधी के आम हो रहे हैं, जितने चाहो, ले लो।

आँसू पीना या पीकर रहना -> दुःख या कष्ट में भी शांत रहना
जब राकेश कक्षा में फेल हो गया तो वह आँसू पीकर रह गया।

आकाश का फूल होना -> अप्राप्य वस्तु
आजकल दिल्ली में घर खरीदना तो आकाश का फूल हो रहा हैं।

आकाश के तारे तोड़ लाना -> असंभव कार्य करना
श्याम हमेशा आकाश के तारे तोड़ने की बात करता हैं।

आग उगलना -> कड़वी बातें कहना)-रमेश तो हमेशा आग उगलता रहता हैं।

आकाश से बातें करना -> अत्यधिक ऊँचा होना
मुंबई की इमारतें तो आकाश से बातें करती हैं।

आग बबूला होना -> अति क्रुद्ध होना
राधा जरा-सी बात पर आग बबूला हो गई।

आग पर लोटना -> ईर्ष्या से जलना
मेरी कार खरीदने की बात सुनकर रामू आग पर लोटने लगा।

आग में घी डालना -> क्रोध को और भड़काना
आपसी लड़ाई में अनुपम के आँसुओं ने आग में घी डाल दिया)

आग लगने पर कुआँ खोदना(विपत्ति आने पर/ऐन मौके पर प्रयास करना
मित्र, पहले से कुछ करो। आग लगने पर कुआँ खोदना ठीक नहीं।

आग लगाकर तमाशा देखना -> दूसरों में झगड़ा कराके अलग हो जाना
वह तो आग लगाकर तमाशा देखने वाला हैं, वह तुम्हारी क्या मदद करेगा।

आटे-दाल का भाव मालूम होना -> दुनियादारी का ज्ञान होना या कटु परिस्थिति का अनुभव होना
जब पिता की मृत्यु हो गई तो राकेश को आटे-दाल का भाव मालूम हो गया।

आग से खेलना -> खतरनाक काम करना
मित्र, तस्करी करना बंद कर दो, तुम क्यों आग से खेल रहे हो?

आग हो जाना -> अत्यन्त क्रोधित हो जाना
सुनिल के स्वभाव से सब परिचित हैं, वह एक ही पल में आग हो जाता हैं।

आगा-पीछा न सोचना -> कार्य करते समय हानि-लाभ के बारे में न सोचना
कुणाल कुछ भी करने से पहले आगा-पीछा नहीं सोचता।

आज-कल करना -> टालमटोल करना
राजू कह रहा था- उसके दफ्तर में कोई काम नहीं करता, सब आज-कल करते हैं।

आटे के साथ घुन पिसना -> अपराधी के साथ निर्दोष को भी सजा मिलना
राघव तो जुआरियों के पास केवल खड़ा हुआ था, पुलिस उसे भी पकड़कर ले गई। इसे ही कहते हैं- आटे के साथ घुन पिसना।

आड़े हाथों लेना -> झिड़कना, बुरा-भला कहना
सुभम ने जब होमवर्क -> गृह-कार्य) नहीं किया तो अध्यापक ने कक्षा में उसे आड़े हाथों लिया।

आधा तीतर, आधा बटेर -> बेमेल वस्तुएँ
राजू तो आधा तीतर, आधा बटेर हैं- हिंदुस्तानी धोती-कुर्ते के साथ सिर पर अंग्रेजी टोप पहनता हैं।

आसमान पर उड़ना -> थोड़ा पैसा पाकर इतराना
उसकी 10 हजार की लॉटरी क्या खुल गई, वह तो आसमान पर उड़ रहा हैं।

आसमान पर चढ़ना -> बहुत अभिमान करना
आजकल मदन का मिजाज आसमान पर चढ़ा हुआ दिखाई देता हैं।

आसमान पर थूकना -> किसी महान् व्यक्ति को बुरा-भला कहना
नेताजी सुभाषचंद्र बोस एक महान् देशभक्त थे उनके बारे में कुछ कहना-आसमान पर थूकने जैसा हैं।

आसमान पर मिजाज होना -> अत्यधिक अभिमान होना
सरकारी नौकरी लगने के बाद उसका आसमान पर मिजाज हो गया हैं।

आसमान सिर पर उठाना -> अत्यधिक ऊधम मचाना
इस बच्चे ने तो आसमान सिर पर उठा लिया हैं, इसे ले जाओ यहाँ से।

आसमान सिर पर टूटना -> बहुत मुसीबत आना
पिता के मरते ही राजू के सिर पर आसमान टूट पड़ा।

आसमान से गिरे, खजूर में अटके -> एक परेशानी से निकलकर दूसरी परेशानी में आना
अध्यापक की मदद से राजू गणित में तो पास हो गया, परंतु विज्ञान में उसकी कम्पार्टमेंट आ गई। इसी को कहते हैं- आसमान से गिरे, खजूर में अटके।

आस्तीन चढ़ाना -> लड़ने को तैयार होना
मुन्ना हर वक्त आस्तीन चढ़ाकर रखता हैं।

आह लेना -> बद्दुआ लेना
रमेश के दादा हमेशा कहते हैं- किसी की आह मत लो, सबकी दुआएँ लो।

आँधी के आम -> बिना परिश्रम के मिली वस्तु
आँधी के आमों की तरह से मिली दौलत बहुत दिनों तक नहीं रुकती।

आखिरी साँसें गिनना -> मरणासन्न होना
मदन की माँ आखिरी साँस ले रही है, सभी डॉक्टरों ने जवाब दे दिया है।

आग देना -> मृतक का दाह-संस्कार करना
भारतीय संस्कृति के अनुसार पिता की चिता को बड़ा बेटा ही आग देता है।

आफत का मारा -> दुखी
जब कोई नौकरी न मिली तो ट्यूशन पढ़ाने लगा। आफत का मारा बेचारा क्या करता ?

आफत मोल लेना -> व्यर्थ का झगड़ा मोल लेना
तुमसे बात करके तो मैंने आफत मोल ले ली। मुझे माफ करो, मैं तुमसे बात नहीं कर सकता।

आव देखा न ताव -> बिना सोच-विचार के काम करना
दोनों भाइयों में झगड़ा हो गया। गुस्से में आकर छोटे भाई ने आव देखा न ताव, डंडे से बड़े भाई का सर फोड़ दिया।

आहुति देना -> जान न्योछावर करना
वीरों ने अपनी जान की परवाह किए बिना देश के लिए हमेशा अपनी आहुति दी है।

आग का पुतला -> क्रोधी

आग पर आग डालना -> जले को जलाना

आग पर पानी डालना -> क्रुद्ध को शांत करना, लड़नेवालों को समझाना-बुझाना

आग पानी का बैर -> सहज वैर

आग बोना -> झगड़ा लगाना

आग लगाकर पानी को दौड़ाना -> पहले झगड़ा लगाकर फिर उसे शांत करने का यत्न करना

आग से पानी होना -> क्रोध करने के बाद शांत हो जाना

आग में कूद पड़ना -> खतरा मोल लेना

आन की आन में -> फौरन ही

आग रखना -> मान रखना

आसमान दिखाना -> पराजित करना

आड़े आना -> नुकसानदेह

अगिया बैताल -> क्रोधी


आर्टिकल पसंद आया तो शेयर करें
एंड कमेंट करें