राजस्थान का सामान्य परिचय

राजस्थान का क्षेत्रफल 3,42,239 वर्ग कि.मी. है। जो कि देश का 10.41% है और क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान का देश में प्रथम स्थान है। 1 नवम्बर 2000 को मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ का गठन हुआ और उसी दिन से राजस्थान क्षेत्रफल की दृष्टि से देश का प्रथम राज्य बना।

2011 की जनगणना के अनुसार राजस्थान की कुल जनसंख्या 6,86,21,012 है जो की देश की जनसंख्या का 5.67 प्रतिशत है। राजस्थान का जनसंख्या की दृष्टि से देश में सातवां स्थान है।

राजस्थान की भौगोलिक स्थिति

राजस्थान भुमध्य रेखा के सापेक्ष उतरी गोलार्द में स्थित है एवं ग्रीनविच रेखा के सापेक्ष पुर्वी गोलार्द में स्थित है। राजस्थान भारत के उत्तरी-पश्चिमी भाग में 23० 3′ से 30० 12′ उत्तरी अक्षांश (अक्षांशीय अंतराल 7० 9′) तथा 69० 30′ से 78० 17′ पूर्वी देशान्तर (देशान्तरीय अंतराल 8० 47′) के मध्य स्थित है। कर्क रेखा अर्थात 23 ० 30′ अक्षांश राज्य के दक्षिण में बांसवाड़ा-डुंगरपुर जिलों से गुजरती है। बांसवाड़ा शहर कर्क रेखा से राज्य का सर्वाधिक नजदीक शहर है।

राजस्थान का विस्तारः

राजस्थान की उत्तर से दक्षिण तक लम्बाई 826 कि. मी. है एवं सबसे उत्तरी गाँव कोणा (गंगानगर) तथा सबसे दक्षिणी गाँव बोरकुण्ड गाँव(कुशलगढ़, बांसवाड़ा) है।
पुर्व से पश्चिम तक राजस्थान की चैड़ाई 869 कि. मी. है एवं सबसे पूर्वी गाँव सिलाना (राजाखेड़ा, धौलपुर) तथा सबसे पश्चिमी गाँव कटरा(फतेहगढ़, जैसलमेर) है।

अंतर्राष्ट्रीय एवं अंतर्राज्यीय सीमा:

राजस्थान की कुल सीमा 5290 कि. मी. है जिसमे से 1070 कि. मी. अंतर्राष्ट्रीय एवं शेष अंतर्राज्यीय सीमा है। पाकिस्तान से लगी अंतर्राष्ट्रीय सीमा को रेडक्लिफ रेखा भी कहते है। रेडक्लिफ रेखा की कुल लम्बाई 1070 कि. मी. है। राजस्थान की अंतर्राज्यीय सीमा भारत के कुल पांच राज्यों (पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात) से लगाती है।

अरावली पर्वतमाला

राजस्थान में मध्य से अरावली पर्वत माला गुजरती है जो राजस्थान को दो हिस्सों में विभाजित करती है इसके एक तरफ पश्चिमी रेगिस्तान है एवं दूसरी तरफ हरे मैदान। राजस्थान का लगभग 67% भाग मरुस्थल है। अरावली विश्व की प्राचीनतम पर्वतमाला है। इसकी कुल लम्बाई 692 कि. मी. है एवं सबसे ऊँची चोटी गुरु शिखर है। इसी पर्वत माला पर सबसे ज्यादा दुर्ग स्थित है।


आर्टिकल पसंद आया तो शेयर करें
एंड कमेंट करें