राजस्थान में कृषि

Rajasthan me Krishi

राजस्थान एक कृषि प्रधान राज्य  है। यहाँ की कुल आबादी का 70% हिस्सा कृषि एवं कृषि आधारित उद्योगों पर निर्भर रहता है। राजस्थान में कृषि की निर्भरता वर्षा पर है, अधिकांश कृषि योग्य भूमि पर मानसून के समय ही कृषि ली जाती है अतः राजस्थान में कृषि को मानसून का जुआ भी कहा जाता है।

कृषि : महत्वपूर्ण तथ्य

  1. भारत के कुल कृषि क्षेत्र का लगभग 13.27% राजस्थान में है।
  2. राज्य के कुल पृष्ठ क्षेत्रफल का 30% भाग सिंचित है।
  3. राजस्थान के सकल घरेलू उत्पाद में कृषि क्षेत्र का योगदान स्थिति कीमतों पर 19.5 प्रतिशत है। (आर्थिक समीक्षा वर्ष 2016-17)
  4. राज्य का बाजरे के उत्पादन व क्षेत्रफल दोनों दृष्टि से देश में प्रथम स्थान है।
  5. राष्ट्रीय सरसों अनुसंधान केंद्र सेवर भरतपुर में स्थित है।
  6. राष्ट्रीय बीज मसाला अनुसंधान केंद्र तबीजी गांव अजमेर में है।
  7. राज्य का पहला कृषि रेडियो स्टेशन भीलवाड़ा में खोला गया।
  8. कांगड़ी दक्षिणी राजस्थान के गरीब आदिवासी शुष्क क्षेत्रों की एक विशेष फसल है।
  9. भारत में एमएस स्वामीनाथन के प्रयासों से 1966-67 में हरित क्रांति शुरू हुई।
  10. राज्य में निजी क्षेत्र की पहली कृषि मंडी कैथून कोटा में खोली गई है।
  11. राजस्थान में सबसे भयंकर त्रिकाल छप्पणिये का काल विक्रम संवत 1956 में पड़ा।
  12. राजस्थान धनिया जीरा मेथी उत्पादन में देश में प्रथम स्थान पर है।
  13. राज्य में सर्वाधिक फल गंगानगर और सर्वाधिक मसाले बारां में उत्पादित होते हैं।
  14. जालौर जिले में विश्व का 40% इसबगोल उत्पादित होता है।
  15. केंद्रीय शुष्क क्षेत्र अनुसंधान केंद्र काजरी जोधपुर में स्थित है शुष्क वन अनुसंधान संस्थान जोधपुर में स्थित है ।
  16. राज्य में बायो डीजल के लिए जेट्रोफा रतनजोत पौधे की कृषि की जाती है।
  17. रेगिस्तान में इजराइल की सहायता से होहोबा(जोजोबा) की कृषि की जाती है।
  18. राजस्थान में अमेरिकन कपास का उत्पादन श्री गंगानगर जिले में होता है।
  19. राज्य कृषिअनुसंधान संस्थान दुर्गापुरा जयपुर में है।
  20. जैतसर एशिया का सबसे बड़ा यांत्रिक कृषि फार्म है। सोवियत संघ के सहयोग से स्थापित किया।
  21. केंद्रीय कृषि फार्म सूरतगढ़ गंगानगर एशिया का सबसे बड़ा कृषि फार्म है।

राजस्थान में कृषि विश्वविद्यालय

  1. स्वामी केशवानंद कृषि विवि, बीकानेर
  2. महाराणा प्रताप कृषि तकनीकी विवि, उदयपुर
  3. कृषि विवि, जोधपुर
  4. कृषि विवि, जोबनेर जयपुर
  5. कृषि विवि, कोटा
  6. केंद्रीय शुष्क क्षेत्र उद्यानिकी अनुसंधान केंद्र, बीकानेर

राजस्थान में महत्वपूर्ण फसलें

अनाज

फसलमहत्वपूर्ण बिंदु
बाजराउत्पादन एवं क्षेत्रफल की दृष्टि से देश में प्रथम स्थान। राजस्थान में देश के कुल उत्पादन का 33% बाजरा उत्पन्न होता है वही यहाँ कुल कृषि भूमि के एक  चौथाई भाग पर बोया जाता है।
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला -> अलवर

चावलकिस्में -> माही सुगंधा, बासमती, परमल, कावेरी, मेघा
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला -> हनुमानगढ़
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :- बूंदी
मुख्य उत्पादक जिले -> हनुमानगढ़ गंगानगर बारां बूंदी कोटा प्रमुख 
नोट: चावल उत्पादन में भारत का चीन के बाद दूसरा स्थान है। 
 भारत में सर्वहिक चावल पश्चिम बंगाल एवं उत्तर  होता है। 
गेहूंसर्वाधिक उत्पादन वाला जिला :- गंगानगर
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :- गंगानगर
किस्में :- सोनालिका, सोना कल्याण, मैक्सिकन, लाल बहादुर, कोहिनूर, मंगला
गेंहू उत्पादन में राजस्थान का पांचवा स्थान है, पंजाब प्रथम स्थान पर। 
 राजस्था में सबसे ज्यादा मात्रा में  उत्पादन होता है। 
मक्कासर्वाधिक उत्पादन वाला जिला -> भीलवाड़ा
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :-उदयपुर
किस्में -> माही कंचन, माही धवल, सविता
मुख्य उत्पादक जिले -> उदयपुर, बांसवाड़ा, राजसमंद
जौ 
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला -> गंगानगर
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :- गंगानगर
भारत में राजस्थान का दूसरा स्थान
देश के कुल  उत्पादन का 29% उत्पादन  राजस्थान में होता है।
ज्वार 
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला -> नागौर
राजस्थान का उत्पादन में 5वां स्थान
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :- अजमेर

दलहन (दालें)

फसलमहत्वपूर्ण बिंदु
मोठराजस्थान में सर्वाधिक क्षेत्रफल में बोई जाती है
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला :- चूरू
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :- चूरू
मसूरऐसी दाल जो रबी की फसल है (अधिकांश दालें खरीफ की फसल होती है।)
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला :- कोटा
चनाराजस्थान का उत्पादन की दृष्टि से दूसरा स्थान है चने का सर्वाधिक उत्पादन चूरू में होता है

मूंग 
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला :- नागौर
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :- नागौर
क्षेत्रीय नाम : हरिया
उड़द 
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला :-बूंदी
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :- भीलवाड़ा
नोट: भूमि की उर्वरक क्षमता बढ़ता है। 
अरहर 
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला :- उदयपुर 
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :-बांसवाड़ा
क्षेत्रीय नाम : अरौड़

तिलहन

फसलमहत्वपूर्ण बिंदु
मूंगफलीसर्वाधिक उत्पादन बीकानेर में मूंगफली उत्पादन के कारण लूणकरणसर को राजस्थान का राजकोट भी कहते है
तिलसर्वाधिक उत्पादन वाला जिला :- पाली
राजस्थान का देश में पांचवा स्थान
सोयाबीनसर्वाधिक उत्पादन बारां में झालावाड़ कोटा बांरां प्रमुख उत्पादक
राई , सरसों 
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला :- अलवर
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :- जयपुर
राजस्थान का देश में प्रथम स्थान
अलसी 
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला :- नागौर 
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :- नागौर
तारामीरा
सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला :- जयपुर 
सर्वाधिक बुवाई का क्षेत्रफल :- जयपुर

नोट:- भारत का तिलहन उत्पादन की दृष्टि से प्रताम स्थान है।, राजस्थान का देख में दूसरा स्थान है।

अन्य फसलें

फसलमहत्वपूर्ण बिंदु
गन्नासर्वाधिक उत्पादन चितौड़ में भारत का विश्व में प्रथम स्थान
कपाससर्वाधिक उत्पादन हनुमानगढ़ विश्व में भारत में प्रथम स्थान
इसबगोलसर्वाधिक उत्पादन बाड़मेर में
ग्वारसर्वाधिक उत्पादन गंगानगर में ग्वारगम बानाने में प्रयुक्त
ग्वार की किस्मे :- दुर्गाबिहार, दुर्गापुरा, दुर्गा जय, सफ़ेद

राजस्थान में कृषि मंडियाँ

लहसून मंडीछीपा बाडौद (बांरा)
प्याज मंडीअलवर
जीरा मंडीमेडता सिटी (नागौर)
सतरा मंडीभवानी मंडी (झालावाड)
कीन्नू व माल्टा मंडीगंगानगर
अमरूद मंडीसवाई माधोपुर
ईसबगोल (घोडाजीरा) मंडीभीनमाल (जालौर)
मूंगफली मंडीबीकानेर
धनिया मंडीरामगंज (कोटा)
फूल मंडीअजमेर
मेहंदी मंडीसोजत (पाली)
अखगंधा मंडीझालरापाटन (झालावाड)
टमाटर मंडीबस्सी (जयपुर)
मिर्च मंडीटोंक
मटर (बसेडी)बसेड़ी (जयपुर)
टिण्डा मंडीशाहपुरा (जयपुर)
सोनामुखी मंडीसोजत (पाली)
आंवला मंडीचोमू (जयपुर)

राजस्थान में कृषि विकास योजनाएं 

  • राष्ट्रीय कृषि विकास योजना :
    प्राकृतिक आपदाओं, कृमियों, रोगों या अन्य कारणों से फसल के नस्ट होने पर फसल बीमा एवं वित्तीय सहायता 
     इसके अंतर्गत रबी की 9 एवं खरीफ की 11 फसलों को शामिल किया गया है।
  • निर्मल ग्राम योजना :
    इस योजना को वर्ष 1999 – 2000 में प्रारम्भ किया गया जिसके अंतर्गत गाँव के कचरे का इस्तेमाल कम्पोस्ट खाद बनाने के रूप करना है। 
  • सहकारी किसान  योजना :
    यह योजना 29 जनवरी 1999 में प्रारम्भ की गयी। 
  • किसान स्वस्थ्य सुरक्षा योजना :
    यह योजना १ अप्रेल 2006 को लागु की गयी। इसके अंतर्गत किसान १ लाख रुपये तक शल्य चिकित्सा करवा सकते है। इस योजना के तहत धारक को एक राजकार्ड उपलब्ध कराया गया है।
  • राष्ट्रीय बम्बू मिशन :
    बांस की खेती को बढ़ावा देने के लिए  12 जिलों बांसवाड़ा, बारां, चित्तौडग़ढ़, राजसमंद, प्रतापगढ़, भीलवाड़ा, डूंगरपुर,झालावाड़,करौली,सवाईमाधोपुर, सिरोही, उदयपुरमें इस योजना को लागू किया गया। 

कृषि से सम्बंधित क्रांतियां

क्रांति का नामसम्बन्ध विवरण
हरित क्रांति अनाज उत्पादन जनक : एम. एस. स्वमिनाथान
 श्वेत क्रांति दुग्ध उत्पादनजनक :  वर्गीज कुरियन
भूरी क्रांतिखाद्यान प्रसंस्करणखाद्यान पैकेजिंग
लाल क्रांतिमांस उत्पादन
नीली क्रांति मत्स्य उत्पादन 
गुलाबी क्रांतिझींगा उत्पादन
 सिल्वर क्रांतिअंडा उत्पादन
गोल क्रांति आलू उत्पादन
पीली क्रांति सरसों उत्पादन


आर्टिकल पसंद आया तो शेयर करें
एंड कमेंट करें