रामकृष्ण मिशन (1897)

  • स्थापना –  1 मई 1897
  • संस्थापक –  रामकृष्ण परमहंस के परम् शिष्य स्वामी विवेकानन्द
  • उद्देश्य – अपने मोक्ष और संसार के हित के लिये 

रामकृष्ण मिशन मुख्यालय कोलकाता के पास बेलुड़ में है। इस मिशन की स्थापना केंद्र में वेदान्त दर्शन का प्रचार-प्रसार है। रामकृष्ण मिशन दूसरों की सेवा और परोपकार को कर्म योग मानता है जो कि हिन्दू धर्म का एक महत्वपूर्ण सिद्धान्त है।

रामकृष्ण मिशन को भारत सरकार द्वारा 1996 में डॉ. आम्बेडकर राष्ट्रीय पुरस्कार से और 1998 में गाँधी शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

अध्यक्ष

सन 1901 से ‘महाध्यक्ष’ के स्थान पर केवल ‘अध्यक्ष’ कर दिया गया

  • स्वामी विवेकानन्द (1897 –1901) (संस्थापक एवं महाध्यक्ष)
  • स्वामी ब्रह्मानन्द (1901–1922)
  • स्वामी शिवानन्द (1922–1934)
  • स्वामी अखण्डानन्द (1934–1937)
  • स्वामी विज्ञानानद (1937–1938)
  • स्वामी शुद्धानन्द (1938–1938)
  • स्वामी विरजानन्द (1938–1951)
  • स्वामी शंकरानन्द (1951–1962)
  • स्वामी विशुद्धानन्द (1962–1962)
  • स्वामी माधवानन्द (1962–1965)
  • स्वामी वीरेश्वरानन्द (1966–1985)
  • स्वामी गम्भीरानन्द (1985–1988)
  • स्वामी भूतेशानन्द (1989–1998)
  • स्वामी रंगनाथानन्द (1998–2005)
  • स्वामी गहनानन्द (2005–2007)
  • स्वामी आत्मस्थानानन्द (2007–2017)
  • स्वामी स्मरणानन्द (2017–वर्तमान)