बंगाल विजय (1574-75 ई.)

  • युद्ध – 1574-75 ईस्वी
  • परिणाम –  बंगाल पर अकबर की विजय

1572 ई. में दाऊद खां सिंहासन पर बैठा।

वह एक साहसी तथा वीर युवक था।

उसने अकबर की आधीनता स्‍वीकार नहीं की। उसे अफगान शक्ति पर पूरा विश्‍वास था।

जब उसने अकबर के अधीन एक दूर्ग पर आक्रमण किया और जौनपुर के राज्‍यपाल को पराजित किया तब पहले राजा टोडरमल ने और फिर मानसिंह ने आक्रमण करके उसे पराजित किया।

अफगानों ने दाऊद खां का साथ नहीं दिया अतः 1576-92 में बंगाल भी मुगल साम्राज्‍य का अंग बन दिया।